संदेश

Voltage और current में क्या अंतर है। खतरनाक कौन होता है।

चित्र
जय हिंद दोस्तों कैसे हैं आप लोग hindimetalk.com पर आपका स्वागत है आज के इस लेख में हम लोग जानेंगे कि वोल्टेज और करंट में क्या अंतर होता है। तथा इनमे ज्यादा खतरनाक कौन होता है यानी वोल्टेज और करंट में जानलेवा कौन सा है जिसकी वजह से व्यक्ति या जानवरो की जान चली जाती है। वोल्टेज और करंट के बारे मे हम लोग ये जानते है कि ये दोनो एक साथ चलते हैं। लेकिन जब इनके बीच अंतर स्पष्ट करने की बात आती है तो हम लोग परिभाषा से आगे नहीं जा पाते हैं। हम आज आपकी इसी परेशानी को दूर करने वाले हैं। इस लेख पूरा पढ़ने के बाद आप आपके पास बहुत से प्वाइंट होंगे जिससे आप किसी भी इंटरव्यू या वायबा में अपना भौकाल मचा सकते हैं या सकती हैं। वोल्टेज और करंट में क्या अंतर है। Difference between voltage and current in hindi. वोल्टेज विद्युत क्षेत्र के दो बिंदुओं के बीच विद्युत आवेशों का अंतर है, जबकि धारा (current) विद्युत क्षेत्र के बिंदुओं के बीच विद्युत आवेशों का प्रवाह है। Voltage एक प्रकार का प्रेशर है जो करेंट को धक्का देता है, जबकि करेंट वोल्टेज के कारण विद्युत क्षेत्र में बहने वाला मुक्त इलेक्ट्रॉन है। वोल्टेज का

Neutral और earthing में क्या अंतर है। ये है सबसे आसान जवाब।

जय हिन्द दोस्तों कैसे हैं आप लोग hindimetalk.com पर आपका स्वागत है आज के इस लेख में हम लोग जानेंगे कि न्यूट्रल और अर्थिंग में क्या अंतर है। क्या हम न्यूट्रल के बदले अर्थिंग का उपयोग कर सकते या नही। आज का यह टॉपिक में बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि अक्सर इंटरव्यू या वायव में यह सवाल पूछ लिया जाता है। चुकी यह टॉपिक बहुत ही सामान्य है जिसका जिक्र हमेशा होता रहता है इसलिए इसका जवाब ना देने पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है। तो आइए जानते हैं कि neutral और earthing में क्या अंतर होता है। न्यूट्रल और अर्थिंग में क्या अंतर है। Difference between neutral and earthing in hindi. न्यूट्रल ट्रांसफॉर्मर के स्टार कनेक्शन से निकलता है। जबकि जबकि अर्थिंग भू(जमीन) से प्राप्त किया जाता है। न्यूट्रल करेंट के वापस लौटने का एक रास्ता है। जबकि अर्थिंग फॉल्ट करेंट को ग्राउंड में भेजता है।  न्यूट्रल में बहुत कम मात्रा में लेकिन करेंट हमेशा उपस्थित रहता है जबकि अर्थिंग के वायर में जीरो करेंट और जीरो वोल्टेज होता है जिसकी वजह से फॉल्ट करेंट आसानी से जमीन में चला जाता है।  एक ट्रांसफॉर्मर पर केवल एक ही न्यूट्रल हो सकता ह

दिन और रात कैसे होता है। तथा दिन रात बड़ा व छोटा कैसे होता है।

चित्र
जय हिन्द दोस्तों कैसे हैं आप लोग hindimetalk.com आज के इस लेख में हम लोग जानेंगे कि दिन और रात कैसे होता है। इसके पहले वाले लेख में हम लोगों ने जाना था कि AD (ईस्वी) और BC (ईशा पूर्व) में क्या अंतर होता है। जब हमारे मन में यह सवाल आता हैं कि दिन और रात कैसे होता है तो हम लोगो को लगता है कि सूर्य जब पृथ्वी के नीचे जाता हैं या पहाड़ों के पीछे चला जाता है तो रात हो जाता है और जब फिर से जब सूर्य ऊपर आता है तो दिन हो जाता हैं। ये एकदम गलत तथ्य है क्योंकि सूर्य किसी भी प्रकार की गति नही करता है तो यह पृथ्वी का चक्कर कैसे लगा सकता है। सच्चाई यह है कि पृथ्वी सूर्य का चक्कर लगाती हैं जिसकी वजह से पृथ्वी पर ऋतु बदलती है। जैसे सर्दी, गर्मी, बरसात। लेकिन इसके वजह से पृथ्वी पर दिन और रात नही होते हैं। तो आइए जानते हैं कि आखिरकार पृथ्वी पर दिन और रात कैसे होता है। दिन और रात कैसे होता है। दिन और रात क्यों होता है। पृथ्वी पर दिन और रात पृथ्वी के द्वारा खुद का चक्कर लगाने के कारण होता है। जैसे-फुटबॉल उंगली पर नाचता है ठीक उसी प्रकार पृथ्वी भी अपने अक्ष पर घूमता है। हमारे लिए दिन मतलब होता है कि सूर

मेट्रो और ट्रेन में क्या अंतर है? किसका किराया ज्यादा है?

चित्र
जय हिंद दोस्तों कैसे हैं आप लोग hindimetalk.com पर आपका स्वागत है आज के इस लेख में हम लोग जानेंगे कि मेट्रो और लोकल ट्रेन में क्या अंतर होता है। या मेट्रो और साधारण ट्रेन में क्या अंतर होता है। इसके पहले वाली आर्टिकल में हम लोगों ने जाना था कि एक ट्रेन में कितने डिब्बे होते है । यदि अभी तक आपने इस लेख को नहीं पढ़ा है तो इसके बाद उसे जरूर पढ़ें! आप लोगों ने ट्रेन तो देखा ही होगा और उसमें सफर भी किया होगा लेकिन बहुत कम ही लोग होंगे जिन्होंने मेट्रो में सफर किया होगा, इसलिए आज हम आपको बताएंगे कि मेट्रो साधारण ट्रेन से किस प्रकार भिन्न है और उस इन दोनों में क्या समानता है और क्या अंतर होता है। आइए देखते हैं.. METRO क्या है। What is metro in hindi. METRO का पूरा नाम metropolitan होता है इसी को आप metro का फुल फॉर्म भी कह सकते हैं। जिसका मतलब होता है महानगर यानी बड़ा शहर। यह ट्रेन का ही एक विकसित रूप है इसे स्पेशली शहरों में चलाने के लिए बनाया गया है। यह दिखाने अच्छी लगती हैं ।  मेट्रो और ट्रेन में क्या अंतर है। Difference between metro and train. मेट्रो और ट्रेन में बहुत से अंतर है जिनके ब

Insulator क्या है? परिभाषा। प्रकार। उपयोग। Insulator in hindi.

चित्र
जय हिंद दोस्तों कैसे हैं आप लोग hindimetalk.com पर आपका स्वागत है आज के इस लेख में हम लोग जानेंगे इंसुलेटर क्या होता है। इंसुलेटर कितने प्रकार के होते हैं। इनका उपयोग कहां और क्यों किया जाता है। तो अंत तक बने रहिए हमारे साथ आज आप इंसुलेटर के एक्सपर्ट बन जाएंगे। इसके पहले हम लोगो ने जाना था कि कैपेसिटर क्या होता है और यह कैसे काम करता है। अगर आप इलेक्ट्रिकल ही पढ़ाई कर रहे हैं जैसे आईटीआई, डिप्लोमा या इंजीनियरिंग तो यह आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण टॉपिक है इसके बिना आप विद्युत से जुड़ा कोई भी कार्य सुरक्षित रूप से नहीं किया जा सकता है। अक्सर परीक्षा और इंटरव्यू में भी इस पर एक प्रश्न पूछा जाता है तो आप से निवेदन है कि इस लेख को पूरा पढ़ें! और आने वाले एग्जाम के लिए चार से पांच नंबर फिक्स कर ले। Insulator क्या है? Insulator in hindi. insulator in hindi  What is insulator in hindi: insulator को हिंदी में विद्युतरोधी या कुचालक भी कहते हैं। इंसुलेटर एक ऐसा पदार्थ होता है जो अपने अंदर से करंट को बहने नहीं देता है। या इंसुलेटर ऐसे पदार्थ होते हैं जो विद्युत धारा के प्रवाह का पूर्ण रूप से विर

Capacitor क्या है। कैसे काम करता है। क्यों लगाते हैं। प्रकार। सूत्र। मात्रक।

चित्र
जय हिंद दोस्तों कैसे हैं आप लोग hindimetalk.com पर आपका स्वागत है आज के इस लेख में हम जानेंगे कि capacitor kya hai और यह कैसे काम करता है तथा capacitor का उपयोग क्यों और कहां किया जाता है। पिछले लेख में हम लोगों ने जाना था कि VFD क्या है और इसका उपयोग क्यों किया जाता है अगर आपने अभी तक इस लेख को नहीं पढ़ा है तो अभी जाकर पढ़ें! अगर आपके घर में सीलिंग फैन है तो आपने कैपेसिटर जरूर देखा होगा क्योंकि आज तक किसी का ऐसा सीलिंग फैन है ही नहीं जिसका कैपेसिटर एक बार खराब ना हुआ हो लेकिन आप यह नहीं जानते होंगे कि यह कैपेसिटर पंखे में क्यों लगाया जाता है और यह कैसे काम करता है। तो आइए अब हम विस्तार से जानते हैं कैपिटल के बारे में। Capacitor kya hai. Capacitor in hindi. Capacitor in hindi: capacitor को हिंदी में संधारित्र या कंडेनसर भी कहते हैं यह एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो विद्युत ऊर्जा को आवेश के रूप मे स्टोर करता है और जब सर्किट को इस विद्युत ऊर्जा की आवश्यकता होती है तब यह एक ही बार में पूरी उर्जा सर्किट को दे देता है। Capacitor विद्युत परिपथ में प्रयुक्त किया जाने वाला दो शिरो वाला एक

VFD full form: VFD क्या है? कैसे काम करता है?

चित्र
जय हिंद दोस्तों कैसे हैं आप लोग Hindimetalk.com पर आपका स्वागत है आज के इस लेख में हम जानेंगे कि VFD kya hai और vfd ka full form क्या होता है तथा VFD का उपयोग कहा किया जाता है और क्यों किया जाता है। अगर आप इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग कर रहे हैं या फिर आप इलेक्ट्रिकल या इलेक्ट्रॉनिक्स के क्षेत्र में काम करते हैं तो आपने अक्सर VFD का नाम जरूर सुना होगा क्योंकि आजकल इंडस्ट्री में इसका उपयोग बहुत अधिक हो रहा है तो आइए आज हम लोग भी जान लेते हैं कि VFD क्या है इसका क्या काम है और vfd लगाने से क्या फायदा मिलता है। VFD kya hai. VFD in hindi. VFD का फुल फॉर्म variable frequency drive होता है। यह एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है इसका उपयोग मोटर के गति को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है इसको सॉफ्ट स्टार्टर की तरह भी प्रयोग किया जाता हैं। Vfd सप्लाई वोल्टेज और आवृत्ति को नियंत्रित करता है इसका उपयोग केवल AC मोटरों के साथ किया जा सकता है। VFD full form|full form of vfd. VFD full form- variable frequency drive. VFD full form- voltage frequency drive. Vfd full form in hindi- चर आवृत्ति चालन। VFD क्यों लगाते

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ट्रेन में जनरल डिब्बे की पहचान कैसे करें।ऐसे पहचाने ट्रेन में जनरल डिब्बे को।

एक करोड़ में कितने जीरो होते है। How many zero in 1 crore.

Train में RAC टिकट का मतलब क्या होता है। यह कब कन्फर्म होता है। RAC ka full form.