EMF क्या है। Full form। परिभाषा। मात्रक। सूत्र। उदाहरण।

 जय हिन्द दोस्तों कैसे हैं आप लोग hindimetalk.com पर आपका स्वागत है आज के इस लेख में हम लोग जानेंगे कि EMF kya hota hai और इसका मात्रक व सूत्र क्या होता है।

EMF एक ऐसा टॉपिक है जो एक बार में समझ में ही नहीं आता है लेकिन हमने आपके लिए इस लेख को ऐसे तैयार किया है कि यह टॉपिक किसी को भी एक ही बार में आसानी से समझ में आ जाए। तो आइए जानते हैं कि emf kya hai।

EMF kya hai। EMF क्या होता है।

What-is-emf-is-hindi.

EMF का full form: Electro motive force होता है। हिंदी में इसे विद्युत वाहक बल कहते हैं। इलेक्ट्रो मोटिव फोर्स एक ऐसा फोर्स होता है जो वोल्टेज को अन्त तक एक समान बनाए रखता है।

दो टर्मिनल के बीच में करेंट पोटेंशियल डिफरेंस के कारण फ्लो होता है इस पोटेंशियल डिफरेंस को बनाए रखने का कार्य EMF करता है। वास्तव मे emf एक ऊर्जा है।

EMF का मान नो लोड और लोड की स्थिति में अलग अलग होता है क्योंकि लोड लगाने पर उसके प्रतिरोध के कारण emf कुछ कम हो जाता हैं। सेल में आंतरिक प्रतिरोध भी होता है लेकिन यह फिक्स होता है इसलिए प्रायः EMF को नो लोड की स्थिति में मापा जाता है। 

परिभाषा: किसी बैटरी या जेनरेटर के दो टर्मिनल के बीच जब करंट प्रवाहित न हो रहा हो तो उस समय उनके बीच में जो potential difference होता है उसे विद्युत वाहक बल (EMF) कहते हैं।

उदाहरण: मान लीजिए की दो पानी की बोतल है एक बोतल A पूरा भरा हुआ है और दूसरा बोतल B आधा भरा है। अब इन दोनो को आपस में एक पाइप से जोड़ देते हैं अब पानी बोतल A से B में जाने लगेगा जिस प्रेसर से यह पानी दूसरी बोतल में जायेगा वह वोल्टेज होगा। लेकिन जैसे जैसे बोतल में पानी का लेवल नीचे जायेगा वैसे वैसे प्रेसर(voltage) भी कम होता जायेगा। और अंत में जब दोनो बोतल में पानी का लेवल एक बराबर हो जायेगा तब प्रेसर(वोल्टेज) खत्म हो जाएगा जिससे पानी का प्रवाह रुक जायेगा।

लेकिन यदि हम बोतल A में पानी पर किसी तरीके से दाब लगाते जाए तो यह एक समान प्रेसर से पानी को दूसरी बोतल में भेजता रहेगा जब तक दोनो बोतल में पानी का लेवल एक बराबर न हो जाए। इस प्रेसर एक समान बनाए रखने के लिए जो ऊर्जा लगती हैं उसे EMF कहते।

मान लीजिए कि एक 12 की बैटरी है जिसमे EMF नही है जिससे आपको 12 वोल्ट के एक tv को चलाना है तो जब आप इसे टीवी से कनेक्ट करेंगे तो टीवी चालू होगा लेकिन कुछ ही देर में बंद हो जायेगा क्योंकि EMF न होने वजह से वोल्टेज लगातार कम होता जायेगा अब 12 वोल्ट का टीवी 11 वोल्ट या 10 वोल्ट पर तो चलेगा नही। Emf होने पर यह 12 वोल्ट लगातार देता रहेगा जब तक पोटेंशियल जीरो नही हो जाता।

सूत्र (formula of emf): ε=E/Q.

Or; e = iR+ir.

Or; e = V+ir.

जहां: ε = electromotive force, विद्युत वाहक बल।
E = energy, ऊर्जा।
Q = charge, आवेश।
e= electromotive force.
i= current, धारा।
R= load rasistance, external rasistance.
r= enternal rasistance, आंतरिक प्रतिरोध।

मात्रक: EMF का मात्रक volt होता है। SI unit of emf is volt. 


प्रेरित विद्युत वाहक बल क्या होता है। Induced emf.

Induced-emf.

फैराडे के अनुसार :- जब किसी चुंबकीय क्षेत्र में किसी चालक को तेजी से चुंबकीय बल रेखाओं के लंबवत घुमाते हैं तो उस चालक में विद्युत वाहक बल उत्पन्न हो जाता है जिससे उस चालक के दोनो शिरो के बीच में करेंट फ्लो होने लगता है। इसे प्रेरित विद्युत वाहक बल या स्व प्रेरित विद्युत वाहक बल कहते है। इसी सिद्धांत ऑल्टरनेट काम करता है।

e = -d¢/dt  

e = electro motive force, ¢= magnetic flux, t= time

Back emf क्या होता है। Back emf in hindi.

Back emf DC मोटर में देखने को मिलता है क्योंकि डीसी मोटर में स्टेटर पर फिक्स मैग्नेट या चुंबकीय क्षेत्र होता है और रोटर वाइंडिंग में डीसी सप्लाई दी जाती हैं जिससे वहां भी फिक्स सेम पोल वाला चुंबकीय क्षेत्र उत्पन्न हो जाता है जिससे रोटर घूमने लगता है। 

चूकी स्टेटर पर फिक्स मैग्नेट है इस लिए उनसे निकलने वाली चुंबकीय प्लस को रोटर वाइंडिंग काटेगा जिसकी वजह से रोटर के वाइंडिंग में एक EMF उत्पन्न हो जाएगा। जिसकी दिशा लेंज के नियमानुसार रोटर में प्रवाहित धारा की दिशा के विपरीत होता है इसलिए इसे back emf कहते है।

सूत्र: Eb= V -Ia Ra.

Eb= back emf, Ia= armature current, Ra= armature rasistance.


EMF और voltage में क्या अंतर है। Difference between voltage and emf.

वोल्टेज को V से दर्शाते हैं जबकि EMF को E,e से दर्शाते हैं।

वोल्टेज चार्ज या पोटेंशियल डिफरेंस के कारण उत्पन्न होता है जो इलेक्ट्रॉन एक दाब होता है जबकि emf एक गैर-विद्युत स्रोत द्वारा उत्पादित विद्युत क्रिया को दिखाता है। कई उपकरण ऊर्जा के विभिन्न रूपों को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करके emf प्रदान करते हैं।

वोल्टेज एक प्रकार प्रेसर होता जो इलेक्ट्रॉन पर लगाता है और emf उस प्रेसर को बनाए रखने में मदद करता है।

बिना emf के वोल्टेज हो सकता है परंतु बिना वोल्टेज के emf किसी काम का नही होगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Train में RAC टिकट का मतलब क्या होता है। यह कब कन्फर्म होता है। RAC ka full form.

ट्रेन में जनरल डिब्बे की पहचान कैसे करें।ऐसे पहचाने ट्रेन में जनरल डिब्बे को।

एक करोड़ में कितने जीरो होते है। How many zero in 1 crore.

Moj app से पैसे कमाने के 5 सबसे आसान तरीके 2023