Koo app किस देश का है ?इसका मालिक कौन है?


 जय हिंद दोस्तों कैसे हैं आप लोग hindimetalk.com पर आपका स्वागत है आज हम बात करने वाले है भारत में बहुत तेजी से लोकप्रिय हो रहे हैं कू एप के विषय में की इस लेख में जानेंगे कि कूू एप  कहां की कंपनी है और koo app का मालिक कौन है इसका हेड क्वार्टर कहां स्थित है इसे कब और किसने बनाया है आप सब ने भारत सरकार और ट्विटर के बीच चल रही है विवाद के बीच में कू एप के बारे में जरूर सुना होगा या कहीं देखा होगा तो आपको यह पता चल ही गया होगा किया koo app क्यों बनाया गया है


 आपको बता दें koo एप को देसी ट्विटर भीं कहा जा रहा है भारत सरकार और ट्विटर के बीच छिड़ी जंग का लाभ कू एप को पूरी तरह से मिल रहा है लोग बहुत ही तेजी से कू एप पर ओर शिफ्ट हो रहे हैं इसमें नामचीन लोग फिल्म इंडस्ट्री राजनीति क्षेत्र खेल जगत और शिक्षा व्यवस्था से जुड़े लोग शामिल है इस ऐप में लगभग सभी न्यूज़ चैनल और उनके एडिटर्स के अकाउंट ओपन हो चुके हैं हाल ही में जी न्यूज के चीफ एडिटर सुधीर चौधरी के koo app पर 500000 follower हो गए हैं।

Koo-app-kaha-ki-company-hai-Koo-app-ka-maalik-Kaun-hai


हम इस लेख में जानेंगे

  • Koo app kis desh ka hai 
  • कू एप कहा की कंपनी है।
  • कू एप का मालिक कौन है।
  • कू एप को किसने बनाया है।
  • कू एप कितनी भाषाओं में उपलब्ध है।
  • कू एप का हेडक्वार्टर कहा स्थित।
  • कू एप की वेबसाइट क्या है।
  • क्या कू एप एक चाइनीज एप है।
  • कू एप को कितने लोगों ने डाउनलोड किया है।


आइए इनके विषय में विस्तार से चर्चा करते

Koo app किस देश का है?/koo एप कहा की कंपनी है?

कू एप एक भारतीय कंपनी है इसे आत्मनिर्भर भारत के तहत बनाया गया है इसका मुख्य उद्देश्य भारत से ट्विटर के वर्चस्व को कम करना है और भारतीयों को एक स्वदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म प्रदान करन है। कू एप अपने इस मकसद सफल हो रहा है और इसमें उसकी मदद भारत के लोग कर रहे हैं जो की बहुत ही अच्छी बात है क्योंकि इससे भविष्य में इस क्षेत्र से जुड़े लोगों को प्रोत्साहन मिलेगा।


क्या koo app एक चाइनीज एप है?

लोगों के बीच में ऐसा माहौल है कि कू एप एक चाइनीज एप है लेकिन असल में असलियत बिल्कुल इससे विपरीत है क्योंकि koo app पूर्ण रूप से भारतीय एप हैं।


Koo app का मालिक कौन है?

कू एप के मालिक अप्रमेय राधा-कृष्ण है इस समय koo app के ceo अप्रमेय राधा-कृष्ण है koo एप की पैरेंट(मूल)कंपनी Bombinate Technologies Pvt Ltd है बेंगलुरु बेस्ट स्टार्टअप कंपनी है।


कू एप को किसने बनाया है?

Koo एप को बेंगलुरु की स्टार्टअप कंपनी Bombinate Technologies Pvt Ltd ने बनाया है इसके दो फाउंडर्स अप्रैल में राधा कृष्ण और मयंक बिदावतका कुवैत को अगस्त 2020 में लांच किया गया था इस समय कू एप में एक्टिव यूजर्स 6 मिलियन से भी अधिक है यानी कि इस समय 6 मिलियन से अधिक लोगों ने koo app डाउनलोड कर लिया है


Koo app का हेड क्वार्टर कहां स्थित है?

कूड़े को मुंबई में टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड ने बनाई है और इसका हेड क्वार्टर भारत के कर्नाटक राज्य की राजधानी बेंगलुरु में स्थित है इसे साइबरसिटी के नाम से भी जाना जाता है


Koo app available

Android

iOS

Web


Koo app में कितनी भाषा है?

Koo एप को सबसे पहले कन्नड़ भाषा में लांच किया गया था लेकिन अभी के समय में कू एप में हिंदी, इंग्लिश ,तमिल, तेलुगु, असामीस, मराठी उपलब्ध है 

भविष्य में कू एप बंगाली,गुजराती ,कश्मीरी ,मलयालम ,पंजाबी ,उड़ीसा ,संस्कृत, उर्दू अन्य भाषाओं को उपलब्ध कराने के लिए तैयारी कर रही है


Koo app पर सबसे पहले कानून कर it मंत्री रविशंकर प्रसाद को कू एप पर 1 मिलीयन से अधिक लोगो ने फॉलो किया है।

इसे भी पढ़ें


Koo app की वेबसाइट -kooapp.com

Koo app किस देश का है?इसका मालिक कौन है? पर हमारा ये लेख आपको कैसा लगा हमे कॉमेंट करके जरूर बताए और इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले.


यदि आप हमसे कोई सवाल पूछना चाहते या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो अभी कमेंट करे हम आपका इंतजार कर रहे हैं

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ट्रेन में जनरल डिब्बे की पहचान कैसे करें।ऐसे पहचाने ट्रेन में जनरल डिब्बे को।

Train में RAC टिकट का मतलब क्या होता है। यह कब कन्फर्म होता है। RAC ka full form.

एक करोड़ में कितने जीरो होते है। How many zero in 1 crore.