VFD full form: VFD क्या है? कैसे काम करता है?

जय हिंद दोस्तों कैसे हैं आप लोग Hindimetalk.com पर आपका स्वागत है आज के इस लेख में हम जानेंगे कि VFD kya hai और vfd ka full form क्या होता है तथा VFD का उपयोग कहा किया जाता है और क्यों किया जाता है।

अगर आप इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग कर रहे हैं या फिर आप इलेक्ट्रिकल या इलेक्ट्रॉनिक्स के क्षेत्र में काम करते हैं तो आपने अक्सर VFD का नाम जरूर सुना होगा क्योंकि आजकल इंडस्ट्री में इसका उपयोग बहुत अधिक हो रहा है तो आइए आज हम लोग भी जान लेते हैं कि VFD क्या है इसका क्या काम है और vfd लगाने से क्या फायदा मिलता है।


VFD kya hai. VFD in hindi.

vfd-kya-hai-vfd-in-hindi.

VFD का फुल फॉर्म variable frequency drive होता है। यह एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है इसका उपयोग मोटर के गति को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है इसको सॉफ्ट स्टार्टर की तरह भी प्रयोग किया जाता हैं। Vfd सप्लाई वोल्टेज और आवृत्ति को नियंत्रित करता है इसका उपयोग केवल AC मोटरों के साथ किया जा सकता है।

VFD full form|full form of vfd.

VFD full form- variable frequency drive.
VFD full form- voltage frequency drive.
Vfd full form in hindi- चर आवृत्ति चालन।

VFD क्यों लगाते है? Why we use VFD.

AC मोटर के साथ VFD लगाने के कई कारण हैं लेकिन सबसे  मुख्य कारण उसके स्पीड को कंट्रोल करना होता है अगर आपसे कोई इंटरव्यू या वायबा में यह सवाल पूछता है तो आपको सबसे पहले यही जवाब देना है। 

कोई भी मोटर स्टार्टिंग में बहुत अधिक करंट लेती है लगभग 5 से 7 गुना जिसकी वजह से मोटर की वाइंडिंग के जलने का खतरा होता है इससे बचने के लिए DOL स्टार्टर, स्टार डेल्टा स्टार्टर, ON लाइन स्टार्टर का उपयोग किया जाता है। ऐसा करके हम धारा को तो कंट्रोल कर लेते हैं लेकिन मोटर अपने फुल स्पीड में अचानक से चलता है जिसकी वजह से मोटर से जुड़े बेयरिंग और मशीन में यांत्रिक क्षति होने की संभावना होती है।

ऐसी स्थिति में अगर हम यहां पर VFD का उपयोग करते हैं तब हम आसानी से इन सभी परेशानियों से बच सकते हैं और इसके लिए हमे किसी प्रकार के जटिल परिपथ का भी निर्माण नही करना पड़ता है। जहा लोड बदलता रहता है या बार-बार मोटर को बंद और चालू करना पड़ता है तो ऐसे जगह पर वीएफड का इस्तेमाल अधिक किया जाता है।


VFD कैसे काम करता है। VFD working in hindi.

सबसे पहले जब VFD को AC पावर सप्लाई दी जाती है तब यह उसे रेक्टिफायर की मदद से DC में बदल देता है और फिर यह DC पावर आगे फिल्टर सेक्शन में जाती है यहां से डिमांड को पूरा करने के लिए आवश्यक पावर इन्वर्टर में जाती है यहा इनवर्टर DC को जरूरत के अनुसार परिवर्तित फ्रीक्वेंसी के साथ AC में बदलकर मोटर को दे देता है।

VFD मोटर की speed कैसे कंट्रोल करता है?

AC मोटर के स्पीड का फॉर्मूला N=120F/P होता है। 
जहां N - मोटर की रेटेड स्पीड
F - फ्रीक्वेंसी P - पोलो की संख्या

अतः इस फॉर्मूला से यह पता चल रहा है कि मोटर की गति सप्लाई फ्रीक्वेंसी के समानुपति हैं जिसका मतलब है की जैसे जैसे फ्रीक्वेंसी बढ़ेगी वैसे वैसे मोटर की गति भी बढ़ेगी यदि फ्रीक्वेंसी काम होगी तो मोटर की गति भी कम होगी।

उदाहरण:मान लीजिए कि 50Hz की फ्रीक्वेंसी पर 4 पोल के एक मोटर को चलाया जाता हैं तब N =120×50/4 
अतः N=1500rpm होगा। 
यदि फ्रीक्वेंसी को 30Hz कर दिया तो N=120×30/4 
अतः N=900rpm हो जायेगा।

 VFD इसी फ्रीक्वेंसी को वोल्टेज के साथ डिमांड इनपुट के अनुसार बदल कर आसानी से मोटर के गति को नियंत्रित करता है। 

VFD लगाने के फायदे। Advantage of vfd.

VFD का उपयोग करने से विभिन्न प्रकार के फायदे होते हैं आइए एक एक करके जानते हैं।
  • VFD लगाने से पावर फैक्टर में गिरावट नहीं आती है।
  • VFD का उपयोग करने से मोटर में होने वाली लगभग सभी प्रकार के दोषों से सुरक्षा मिल जाती है।( Short circuit, earth leakage, over load, please loss)
  • VFD की सहायता से हम मोटर को आसानी से कम स्पीड के साथ स्टार्ट और बंद कर सकते है। जिससे टूट फुट होने की संभावना बहुत कम हो जाती है।
  • VFD लगाने के बाद हमें अलग से स्टार्टर या स्पीड कंट्रोलर लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।
  • VFD कि की सहायता से मोटर को रिवर्स में भी चलाया जा सकता है बिना कनेक्शन को बदले।
  • VFD विद्युत ऊर्जा की बचत करता है।

VFD लगाने के नुकसान। Disadvantage of vfd.

  • VFD काफी महंगा होता है। 
  • VFD की वजह से हार्मोनिक उत्पन्न हो जाता है।
  • VFD लगाने से मोटर में वाइब्रेशन बड़े जाती है।
  • वाइब्रेशन बढ़ने से शोर बढ़ता है।
  • VFD के कारण केबल गर्म होने लगती है।
  • VFD से मोटर की अधिकतम दूरी 500 मीटर तक ही रखी जा सकती है।

निष्कर्ष।
इस लेख के माध्यम से हम लोगों ने जाना कि vfd full form और VFD क्या होता है तथा इसका उपयोग मोटर के साथ क्यों किया जाता है। इसके क्या लाभ होते हैं और यह कैसे काम करता है। अगर अभी भी आपके मन मे इससे जुड़ा कोई सवाल है तो आप कॉमेंट करके पूछ सकते हैं।

यहां पर हमने VFD से जुड़े अक्सर पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न और उनके उत्तर दिए हैं जो आपके लिए बहुत उपयोगी हो सकते तो इन्हें जरूर पढ़ें।

FAQ: Related to VFD in hindi.

प्रश्न- VFD के अन्य नाम क्या है?
उत्तर-VFD के अन्य नाम - AFD (adjustable frequency drive) और VVVFD (variable voltage variable frequency) तथा इसे AC drive भी कहा जाता है।

प्रश्न- VFD के तीन खंड क्या है?
उत्तर- 1. रैक्टीफायर 2. कंट्रोल सेक्शन 3. इन्वर्टर।

प्रश्न- VFD और VSD में क्या अंतर है?
उत्तर- VFD केवल AC सप्लाई पर काम करता है जबकि VSD AC और DC दोनो में काम कर सकता है।

प्रश्न- मुझे किस साइज का VFD लगाना चाहिए?
उत्तर- आपको मोटर की साइज(HP) से बड़ा या बराबर पावर रेटिंग का vfd लगाना चाहिए।

प्रश्न- VFD लगाने का मुख्य कारण क्या है?
उत्तर- मोटर की गति नियंत्रित करना।

प्रश्न- क्या हम VFD को किसी भी मोटर से जोड़ सकते हैं?
उत्तर- नही। केवल AC मोटर के साथ।

प्रश्न- मोटर से VFD की अधिकतम दूरी कितनी होनी चाहिए?
उत्तर- मोटर की VFD से अधिकतम दूरी 500 मीटर हो सकता है।













टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ट्रेन में जनरल डिब्बे की पहचान कैसे करें।ऐसे पहचाने ट्रेन में जनरल डिब्बे को।

Moj app से पैसे कमाने के 5 सबसे आसान तरीके 2022

एक करोड़ में कितने जीरो होते है। How many zero in 1 crore.