सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

ट्रेन में जनरल डिब्बे की पहचान कैसे करें।ऐसे पहचाने ट्रेन में जनरल डिब्बे को।

जय हिंद दोस्तों कैसे हैं आप लोग hindimetalk.com पर आपका स्वागत है आज हम बात करने वाले है ट्रेन के बारे मे हम इस लेख में जानेंगे कि किसी भी ट्रेन में जनरल डिब्बे की पहचान कैसे करें या फिर जनरल डिब्बे की पहचान क्या होती है, इसके पहले हमने जाना था कि ट्रेन की पटरी पर पत्थर क्यों होते हैं, यदि आपने हमारे इस लेख को नहीं पढ़ा है तो अभी जाकर पढ़ें!

भारत में 60% से भी अधिक लोग ऐसे हैं जो कि इकोनामिक क्लास में सफर करते हैं इसका सबसे बड़ा कारण है पैसे की कमी और दूसरा है पैसे की बचत करना यह दोनों एक दूसरे के विपरीत है लेकिन एक दूसरे के पूरक है एक सामान्य व्यक्ति ट्रेन से सफर करते वक्त अक्सर जनरल डिब्बे में सफर करता है क्योंकि इसमें कम पैसा लगता है।

यदि आप भी उन लोगों में से हैं जो जनरल डिब्बे में सफर करते हैं या फिर सफर करना चाहते हैं लेकिन आपको नहीं पता होता है कि जनरल डिब्बे की क्या पहचान होती है या फिर जनरल डिब्बे को कैसे पहचाने तो अब आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि आज हम आपको बताएंगे कि किसी भी ट्रेन में जनरल डिब्बे को कैसे पहचाने

ट्रेन में जनरल डिब्बे की क्या पहचान है,ट्रेन में जनरल डिब्बे को कैसे पहचाने?

Train-me-janaral-dibbe-ki-pahchaan
जनरल डिब्बे की पहचान
किसी भी ट्रेन में जनरल डिब्बे को पहचानने का सबसे आसान तरीका है उस पर किए गए पेंट और कुछ चिन्ह जो कि केवल जनरल डिब्बे पर ही बनाए जाते हैं

1. किसी भी ट्रेन में जनरल डिब्बे के दरवाजे के ठीक बगल में ऊपर दो (एक समान) लाइन होती है जिस भी डिब्बे पर यह दो लाइन है समझ लीजिए कि वह जनरल का।

2. किसी भी ट्रेन के जनरल डिब्बे पर दरवाजे के दोनों साइड ढेर सारी बेड़ी पाई लगभग 60° अंश के कोण पर खींची गई होती हैं जिनका रंग नीला या पीला हो सकता है इसकी सहायता से भी आप जनरल डिब्बे को पहचान सकते हैं।

3. जनरल डिब्बे की एक और पहचान यह है कि उस डिब्बे के अंदर upper एंड मिडिल seat नहीं होती है।

4. जनरल डिब्बे में हमेशा 3 दरवाजे होते है। एक बीच में दो किनारे किनारे।

5. जनरल डिब्बे पर अक्सर D1 D2 D3 D4....Dn लिखा होता है।

6. ट्रेन के प्रत्येक डिब्बे पर कुछ बड़े बड़े नंबर लिखे होते है जैसे 02425 इसमें पीछे तीन नंबर यदि 400 से 600 के बीच में है तो इसका मतलब है कि यह जनरल का डिब्बा है।

Train(रेल) में जनरल डिब्बा हमेशा आगे या पीछे ही क्यों होता है?

ट्रेन में जनरल डिब्बे को आगे और पीछे लगाने के कई कारण होते है जिनमें से कुछ मुख्य कारणों उल्लेख यहां किया गया है।
  • जनरल डिब्बे को ट्रेन में सबसे आगे और पीछे लगाने का सबसे बड़ा कारण है फर्स्ट और सेकंड क्लास के यात्रियों को सुविधा प्रदान करना। यदि आपने गौर किया हो तो ट्रेन का अगला हिस्सा और पिछला हिस्सा प्लेटफार्म पर सबसे दूरी पर होता है और एसी वाले डिब्बे मध्य में होते हैं।जाहिर सी बात यदि कोई आपसे ज्यादा पैसा दे रहा हैं तो उसे आपसे ज्यादा सुविधा भी मिलनी चाहिए।
  • जनरल डिब्बे को ट्रेन में आगे या पीछे लगाने का दूसरा सबसे बड़ा कारण है फर्स्ट क्लास और सेकंड क्लास के यात्रियों को सुरक्षा प्रदान करना।
  • फर्स्ट क्लास और सेकंड क्लास के कोच को  सुरक्षित रखने के लिए जनरल डिब्बे को ट्रेन में आगे या पीछे जोड़ा जाता है। ट्रेन में जनरल डिब्बे की अपेक्षा स्लीपर, एसी कोच की कीमत अधिक होती है इसलिए जनरल डिब्बे को आगे लगाया जाता है ताकि किसी भी दुर्घटना की स्थिति में रेलवे को कम से कम नुकसान हो।
इन्ही कारणों से ट्रेन के जनरल डिब्बों को हमेशा ट्रेन में आगे या पीछे लगाया जाता है।

>इन्हें भी पढ़ें!

जनरल डिब्बे में बिना टिकट के सफर कैसे करें? travel without ticket in indian railway.

ट्रेन के जनरल डिब्बे में बिना टिकट सफर करने के लिए आपको बहुत ही सावधानी बरतनी होगी और कहा से जा रहे तथा जहा जा रहे वहा के स्टेशन ,platform की जानकारी होना बहुत आवश्यक है।

ट्रेन में बिना टिकट सफर करने के लिए सबसे पहले आपको ये पता होना चाहिए कि ट्रेन किस प्लेटफॉर्म पर आएगी अब आपको उस प्लेटफॉर्म पर ऐसे रास्ते से जाना है जहा TT नही होते है इसके बाद इस ट्रेन के किसी भी जनरल डिब्बे में बैठ जाइए।

जहा जाना है उससे पहले कोसिस करे की किसी स्टेशन पर ना उतरे जहा जाना है वहा पहुंच कर ट्रेन रुकने के थोड़ी देर बाद टीटी को देखकर उतरे फिर ऐसे रास्ते से जाए जहा TT ना हो

बिना टिकट सफर करने के लिए आप हमेशा जनरल डिब्बे का ही इस्तेमाल करे। और बिना टिकट लंबी दूरी का सफर न करे। यदि सीट न खाली हो तो किसी के सीट पर ना बैठे

ट्रेन के किसी भी कोच में बिना टिकट सफर करना कानूनी अपराध है इसलिए इसका इस्तेमाल आप मजबूरी में ही करें।

>इन्हें भी पढ़ें!

जनरल डिब्बे में सफर करने के फायदे

जनरल डिब्बे में सफर करने के कई फायदे हैं
  1. कम पैसे में अपने गंतव्य स्थान तक पहुंचा जा सकता है
  2. जब कहीं भी ट्रेन रुकती है तो आप उतर कर वहां का आनंद ले सकते हैं
  3. जनरल डिब्बे आप जब चाहें तब चढ़ या उतर सकते है
  4. जनरल डिब्बे में सफर करते वक्त आप दरवाजे पर खड़े हो सकते है या बैठ सकते है (लेकिन हमारी आपको यही सलाह है कि आप ऐसा न करे)
  5. इसका किराया(टिकट प्राइस) सबसे कम होता है।

जनरल डिब्बे में सफर करने के नुकसान

  1. आपको सीट मिलनी मुस्किल होती हैं त्योहारों के समय में तो फिक्स है कि सीट नहीं मिलेगी।
  2. धक्का मुक्की का सामना करना पड़ सकता है।
  3. सामान चोरी होने की संभावना होती हैं (यदि आप सो जाते है तो)।
  4. अपना सामान ले जाने और ले आने में दिक्कत होती है।
  5. इसमें आपको आराम करने यानी की सोने की वयवस्था नही होती हैं
  6. सुरक्षा की दृष्टि से सही नही होता है
  7. लंबी दूरी के सफर के लिए इसका उपयोग कठिनाई भरा हो जाएगा।
>इन्हें भी पढ़ें!

निष्कर्ष!
ट्रेन में जनरल डिब्बे की क्या पहचान होती है पर आज का हमारा यह लेख आपकी जरूर पसंद आया होगा। आपसे निवेदन है इसे अपने दोस्तों के साथ और व्हाट्सएप ग्रुप में जरुर शेयर करें ताकि हमारी यह बात और लोगों तक पहुंच सके।

अगर आपके मन में कोई सवाल है आप हमसे पूछ सकते किसी भी टॉपिक पर हम आपके सभी सवालों के जवाब अवस्य देंगे।

अभी तक हमारे साथ बने रहने के लिए सारे संदेश को पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत आभार धन्यवाद!

आइए जानते हैं कि बिना पैसे के पैसा कैसे कमाए।

टिप्पणियाँ

Unknown ने कहा…
Nice👍 line 〰 thanks🙏❤
Unknown ने कहा…
Sir hmko ye pta nhi h ki local train me Gs ka mtlb jante h ki General bogi hota h but ye pta nhi hota h ki bogi Gs likha rahta h ya nhi
Praveen Kumar Singh ने कहा…
किसी भी ट्रेन में महिला डिब्बे कहां पर होता है
Prakash verma ने कहा…
किसी भी ट्रेन पर Gs नहीं लिखा होता है यह केवल app में आपको दिखाई देगा,
Suprabhat ने कहा…
भारतीय रेल को हम धड़कन कहे, to अतिशयोक्ति न होगी l लेकिन यात्रियों के वर्ग विभाजन से बड़ी विषमता देखने मिलती है.समान्य कोच के यात्रियों को वलि की वेदी पर चड़ाना जानते हुए मानव अपराध करना कहना उचित होगाl yh व्यवस्था समान होनी चाहिए. सभी बोगियो मे समान सुविधा औसत किराये पर मिलना चाहिए .जिससे अंगेजो की याद ताजा न करें l
Suprabhat ने कहा…
अंग्रेज शासन की याद दिलाती है

Popular posts.

Train में RAC टिकट का मतलब क्या होता है। यह कब कन्फर्म होता है। RAC ka full form.

जय हिंद दोस्तों कैसे हैं आप लोग hindimetalk.com पर आपका स्वागत है आज हम लोग जानेंगे कि ट्रेन के टिकट पर rac ka matlab क्या होता है और rac ka full form क्या होता है तथा RAC वाला टिकट कब कंफर्म होता है।  कहने का अर्थ यह है कि आरएसी से जुड़े सभी सवालों के जवाब आपको इस आर्टिकल में मिल जाएगा। अक्सर लंबी दूरी की ट्रेनें जैसे महाराष्ट्र गुजरात के मुंबई अहमदाबाद सूरत जैसे बड़े महानगरों में जाने के लिए या फिर इन शहरों से अपने घर जाने के लिए ट्रेन की टिकट को एक महीना पहले ही बुक करना पड़ता है यदि ऐसा नहीं करते हैं तो कई बार चालू टिकट लेकर या फिर वेटिंग लिस्ट का टिकट लेकर जाना पड़ता है ऐसे में कुछ लोग RAC का या फिर वेटिंग लिस्ट का टिकट कटा लेते हैं जिनमें से कुछ लोगों का टिकट कंफर्म हो जाता है और बर्थ अलॉट कर दिए जाते हैं जबकि कुछ लोगों को आरएसी और वेटिंग लिस्ट वाले टिकट के साथ ही सफर करना पड़ता है तो आइए जानते हैं RAC ticket के बारे में। RAC का मतलब  क्या होता है। Railway me rac ka matlab. Rac train ticket. ट्रेन के टिकट पर लिखे RAC का फुल फॉर्म reservation against cancellation होता है जिसका

एक करोड़ में कितने जीरो होते है। How many zero in 1 crore.

जय हिन्द दोस्तों कैसे हैं आप लोग Hindimetalk.com आपका स्वागत है आज के इस लेख हम जानेंगे कि 1 करोड़ में  कितने जीरो होते हैं , इसके पहले वाले लेख में हमने जाना था कि 1K 1M 1B का मतलब क्या होता है एक मिलियन में कितने लाख होते हैं एक बिलियन में कितने करोड़ होते हैं यदि अभी तक आपने इस लेख को नहीं पढ़ा तो अभी जाकर पड़े ये दोनों लेख एक दूसरे के पूरक हैं।  कुछ लोगों को यह तो पता होता है कि एक करोड़ या 100 करोड़ किसे कहते हैं लेकिन जब जीरो की बात आती है तो हम कंफ्यूज हो जाते हैं अगर आपको यह परेशानी होती है तो हम आपको गारंटी दे सकते हैं कि आज के बाद यदि आपने इस लेख को पूरा पढ़ लिया तो कभी भी आपको इसमें किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होगी, फिर कोई आपसे हजार करोड़ में जीरो की संख्या पूछे या एक लाख करोड़ में कितने जीरो होते हैं पूछें आप सभी सवालों का जवाब बिना जीरो को गिने दे पाएंगे। इस लेख में हम केवल यही नहीं जानेंगे कि ek karod me kitane zero hote hai. बल्कि यह भी जानेंगे कि 100000 में कितने जीरो होते हैं एक मिलियन में कितने जीरो होते हैं एक बिलियन में कितने जीरो होते हैं तो आपसे निवेदन है कि

Moj app से पैसे कैसे कमाए 2023 में।

  Moj app में वीडियो बनाकर पैसे कैसे कमाए? जय हिंद दोस्तों कैसे आप लोग Hindimetalk.com पर आपका स्वागत है आज हम बात करने वाले हैं कि moj ऐप से पैसा कैसे कमाते हैं भारत में नौजवानों के लिए जो बेहतरीन content बना सकते हैं उनके लिए tik tok, like,hello,vigo जैसे एप्स  कमाई का एक आसान जरिया था जिसकी सहायता से लोग बहुत ही आसानी से कुछ पैसे कमा लेते थे और पॉपुलर भी हो जाते थे लेकिन चाइनीस ऐप के बैन हो जाने के बाद आप लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन कुछ नए एप्स पुराने एप्स की जगह लेने के लिए आ गए हैं। जो की आपको उन्ही एप्स की तरह पैसे देते हैं और इनमें भी आपको वीडियो बनाकर डालना होता है और आपके वीडियो पर लाइक व्यूज और शेयर के अनुसार आपको पैसे मिलते हैं जिनको आप अपने बैंक में ट्रांसफर कर सकते हैं। ऐसे में यदि आपने भी कोई शॉट वीडियो क्रिएटिंग ऐप को डाउनलोड किया है जैसे Roposo ,मित्रो,MOJ, sharechat , आदि।  इन ऐप को आप Tik Tok जैसा इंडियन आप भी कह सकते है और अब आप इन से पैसा कमाना चाहते हैं लेकिन आपको नहीं पता है कि इन एप्स से पैसे कैसे कमाए जाते हैं तो आपको परेशान होने की